TOP 75+ Insaniyat Shayari in Hindi

Insaniyat Shayari image


दोस्तों मानव के जीवन में हर एक इंसान के साथ इंसानियत दिखता है तो उस इंसान के जीवन में कभी दुःख नहीं होता क्युकी एक मनुष्य ही दूसरे मनुष्य से इंसानियत की की इक्छा रखता है इसलिए आज हम इंसानियत पर लिखी कुछ खास TOP 75+ Insaniyat Shayari in Hindi | इंसानियत शायरी इन हिंदी आपके साथ शेयर करने जा रहे हैं।

Insaniyat Shayari image

insaniyat shayari

बहुत से कागज़ मिल जाते हैं एक खासियत
बेच कर, लोग पैसा कमाते हैं आज कल
इंसानियत बेच कर।

Bahut se kagaj mil jate ha ek
khasiyat bech kar log pesa
kamate ha aaj kal insaniyat
bech kar.

 

 

 

insaniyat shayari in hindi

इंसान ही आता है काम इंसान के
मददगार कोई फरिश्ता नही होता
यह सच्चाई जान ले ऐ दोस्त इंसानियत
से बड़ा कोई रिश्ता नही होता.

Insan hi aata hai kam Insan ke
madadgar Koi Farishta Nahin
Hota yah sacchai Jaan Le yah
dost Insaniyat Se Bada Koi
Rishta Nahin Hota.

insaniyat shayari images
insaniyat shayari images

insaniyat shayari hindi

इंसानियत की राह पर तुम्हे चलना होगा
ठोकरे खाकर ही ​भी तुम्हे संभलना होग.
Insaniyat Ki Raah per Tumhen
Chalna Hoga thokere khakar
hi Tumhen sambhalna hoga.

 

 

 

insaniyat shayari hindi mai

अगर मोहब्बत की हद नहीं कोई,
तो दर्द का हिसाब क्यूँ रखूं।
Agar Mohabbat Ki Hadd
Nahin Koi,Toh Dard Ka
Hisaab Kyun Rakhoon.

insaniyat shayari image 2022
insaniyat shayari image 2022

insaniyat shayari 2022

आज लाखों डिग्रीयां हो गई है कॉलेजों में
मगर इंसानियत का पाठ अब कोई नहीं पढ़ता।
Aaj lakhon degree ho gai ha collage
me magar insaniyat ka path an koi
nahi pdata..

 

 

insaniyat shayari urdu

तेरा प्यार पाने के लिए मैंने कितना
इंतज़ार किया, और उस इंतज़ार में
न जाने कितनों से प्यार किया।

Tera Pyar Paane Ke Liye
Maine Kitna Intezar Kiya,
Aur Uss Intezar Mein Na
Jaane Kitno Se Pyar Kiya.

insaniyat shayari image download
insaniyat shayari image download

insaniyat shayari in hindi 2022

जिन्हें महसूस इंसानों के रंजो-गम नहीं होते,
वो इंसान भी हरगिज पत्थरों से कम नहीं होते।
jinhen mahasus insaanon ke ranjo
-gam nahin hote,vo insaan bhi haragij
pattharon se kam nahin hote.

 

 

shayari on insaniyat

इसीलिए तो यहाँ अब भी अजनबी हूँ मैं
तमाम लोग फ़रिश्ते हैं आदमी हूँ मैं।
isilie to yahaan ab bhi ajanabi
hun main tamaam log farishte
hain aadami hun main.

insaniyat shayari image hd
insaniyat shayari image hd

shayari for insaniyat

इन्सानियत की रौशनी गुम हो गई कहाँ,
साए तो हैं आदमी के मगर आदमी कहाँ.
insaaniyat ki raushani gum ho
gai kahaan,sae to hain aadami
ke magar aadami kahaan.

 

 

 

insaniyat ki shayari

सच्चाई थी पहले के लोगों की जुबानों में,
सोने के थे दरवाजे मिट्टी के मकानों में।
Sachchai Thi Pehle Ke Logon
Ki Jubano Mein,Sone Ke Darwaje
The Mitti Ke Makaano Mein.

insaniyat shayari image in hindi
insaniyat shayari image in hindi

insaniyat par shayari

इंसानियत दिल मे होती है हैसियत मे
नही उपरवाला कर्म देखता है वसीयत नही.
Insaniyat Dil mein Hoti Hai
heasiyat Mein Nahin upar wala
kam dekhta hai vasiyat Nahin..

 

 

 

insaniyat ki shayari in hindi

चंद सिक्कों में बिकता है इंसान का ज़मीर,
कौन कहता है मुल्क में महंगाई बहुत है।
Chand Sikkon Me Bikta Hai
Insaan Ka Zamir,Kaun Kehta
Hai Mulk Mein Mehgayi Bahut Hai.

insaniyat shayari pic
insaniyat shayari pic

insaniyat par shayari in hindi

मेहनत के प्रति मन मै अपने
श्रद्धा हमेशा बनाए रखना
जिंदगी मे बस इंसानियत को
ही अपना उसूल बनाए रखना.

Mehnat ke Prati Man Ko Man
Mein Apne Shradha Hamesha
Banaye Rakhna zindagi Mein
bus Insaniyat ko ki Apna usool
banae Rakhna..

 

 

 

insaniyat pe shayari

जिनका मिलना मुकद्दर में लिखा नहीं होता,
उनसे मोहब्बत कसम से बा-कमाल होती है।
Jinka Milna Mukaddar Mein Likha
Nahi Hota,Unse Mohabbat Kasam
Se Ba-Kamaal Hoti Hai.

insaniyat shayari dp
insaniyat shayari dp

insaniyat pe shayari in hindi

इन्सानियत की रौशनी गुम हो गई कहाँ,
साए तो हैं आदमी के मगर आदमी कहाँ.
Insaaniyat Ki Roshni Gumm
Ho Gayi Kahan,Saaye Toh Hain
Aadmi Ke Magar Aadmi Kahan.

 

 

insaniyat sad shayari

पहले ज़मीं बँटी फिर घर भी बँट गया,
इंसान अपने आप में कितना सिमट गया।
pahale zamin banti phir ghar
bhi bant gaya,insaan apane
aap mein kitana simat gaya.

insaniyat shayari photos
insaniyat shayari photos

insaniyat ke liye shayari

इंसान की मदद करने इंसान ही आता है
इंसानियत का अपना एक उसूल होता है.
insan ki madad karne insan
hi aata hai insaniyat ka apna
ek usool hota hai.

 

 

 

insaniyat mar gayi shayari

जरा सा बात करने का तरीका सीख लो तुम भी,
उधर तुम बात करते हो इधर दिल टूट जाता है।
Jara Sa Baat Karne Ka Tareeka
Seekh Lo Tum Bhi,Udhar Tum Bat
Karte Ho Idhar Dil Toot Jata Hai.

insaniyat love images shayari
insaniyat love images shayari

insaniyat shayari in hindi 2 line

आइना कोई ऐसा बना दे ऐ खुदा जो,
इंसान का चेहरा नहीं किरदार दिखा दे.
Aaina koi esa bna de e khuda
jo,insaan ka chehra nahi kirdar
dikha de.

 

 

 

insaniyat shayari 2 line

ना किसी क़यामत से रह गया है ना भगवान्
से रह गया है, इंसान को डर बस अब इंसान
से रह गया है।
Naa kisi kayamat se reh gaya ha
naa bhagwan se reh gaya ha insaan
ko dar bas ab insaan se reh gaya hai.

इंसानियत शायरी इमेज
इंसानियत शायरी इमेज

insaniyat attitude shayari in hindi

खुद भूखा रहकर किसी को खिलाकर
तो देखिए कुछ यूं इंसानियत का फ़र्ज
निभाकर तो देखिए.

Khud Bukhara Kar Kisi Ko Khila kar
To dekhiae Kuchh Yun Hi insaaniyat
ka farj Nibha kar to dekhiae.

 

 

 

इंसानियत शायरी

दिल की धड़कन और मेरी सदा है तू,
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है तू,
चाहा है तुझे चाहत से भी बढ़ कर,
मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है तू.

Dil Ki Dhadkan Aur Meri Sadaa
Hai Tu,Meri Pehli Aur Aakhiri Wafa
Hai Tu,Chaha Hai Tujhe Chahat Se
Bhi Barh Kar,Meri Chahat Aur Chahat
Ki Inteha Hai Tu.

insaniyat par shayari image
insaniyat par shayari image

इंसानियत शायरी हिंदी

फितरत सोच और हालात में फर्क है वरना,
इन्सान कैसा भी हो दिल का बुरा नहीं होता.
Fitrat soch aur halat me fark ha
varna insaan kesa bhi ho dil ka
bura nahi hota.

 

 

इंसानियत शायरी 2022

इंसाँ की ख़्वाहिशों की कोई इंतिहा नहीं,दो
गज़ ज़मीं भी चाहिए दो गज़ कफ़न के बाद।
Insaan Ki Khwahishon Ki Koi
Inteha Nahi,Do Gaz Zamin Bhi
Chahiye Do Gaz Kafan Ke Baad..

insaniyat shayari with images in hindi
insaniyat shayari with images in hindi

सबसे बेहतरीन इंसानियत शायरी

सामने है जो उसे लोग बुरा कहते हैं जिस
को देखा ही नहीं उस को ख़ुदा कहते हैं.
Saamne Hai Jo Use Log Bura
Kehate Hai Jis Ko Dekha Hi
Nahi Us Ko Khuda Kehate Hai.

 

 

 

इंसानियत शायरी हिंदी में

दिल के मंदिरों में कहीं बंदगी नहीं करते,
पत्थर की इमारतों में खुदा ढूंढ़ते हैं लोग।
Dil Ke Mandiron Mein Kahin
Bandgi Nahi Karte,Patthar Ki
Imarto Mein Khuda Dhoondhte
Hain Log.

insaniyat shayari hindi image
insaniyat shayari hindi image

इंसानियत शायरी इन हिंदी

हमारी हैसियत का अंदाज़ा तुम ये जान के लगा लो,
हम कभी उनके नहीं होते जो हर किसी के हो गए।
Humari Haisiyat Ka Andaza Tum Ye
Jaan Ke Laga Lo,Hum Kabhi Unke
Nahi Hote Jo Har Kisi Ke Ho Gaye.

 

 

 

इंसानियत पर शायरी

खड़े पेड़ से सीख लिया एक
छोटा सा सन्देश तपते रहना है खुद
पर इंसानियत नहीं भूलना यही है
हमारे पूर्वजो का आदेश.

Khade ped me sikh liya ek
chota sa sandesh tapte rehna
hai khud par insaniyat nahi
bhulana yahi ha humare
purvajo ka adesh.

insaniyat status images
insaniyat status images

इंसानियत पे शायरी

उस शख्स का ग़म भी कोई सोचे,
जिसे रोता हुआ ना देखा हो किसी ने।
Uss Shakhs Ka Gham Bhi
Koyi Soche,Jise Rota Hua
Na Dekha Ho Kisi Ne..

 

 

 

इंसानियत की शायरी

इंसानियत तो मैंने आज ब्लड बैंक में देखी थी,
खून की बोतलों पर मजहब लिखा नही होता।
Insaniyat To Maine Aaj Blod Bank
Me Dekhi Thi,Khoon Ki Botlon Par
Majhab Likha Nahi Hota.

insaniyat status in hindi images
insaniyat status in hindi images

इंसानियत धर्म पर शायरी

ऐ आसमान तेरे ख़ुदा का नहीं है ख़ौफ़
डरते हैं ऐ ज़मीन तिरे आदमी से हम।
ai aasamaan tere khuda ka
nahin hai khauf darate hain
ai zamin tire aadami se ham.

 

 

 

इंसानियत की कुछ अच्छी बातें

अब तू ही कोई मेरे ग़म का इलाज कर दे,
तेरा ग़म है तेरे कहने से चला जायेगा।
Ab Tu Hi Koi Mere Gham Ka
ilaaj Kar De,Tera Gham Hai
Tere Kehne Se Chala Jayega.

insaniyat quotes images
insaniyat quotes images

जाति धर्म पर शायरी

ग़म देकर तुमने खता की,ऐ सनम
तुम ये न समझना, तेरा दिया हुआ
ग़म भी,हमें दवा ही लगता है।

Gham Dekar Tumne Khata Ki,
Eh Sanam Tum Ye Na Samjhna,
Tera Diya Hua Gham Bhi,
Hamein Dava Hi Lagti Hai.

 

 

 

इंसानियत स्टेटस इन हिंदी

तुझको पा कर भी न कम हो सकी
बेताबी दिल की,इतना आसान तेरे
इश्क़ का ग़म था ही नहीं।

TujhKo Pakar Bhi Na Kam Ho
Saki Betabi Dil Ki,Itna Aasaan
Tere Ishq Ka Gham Tha Bhi Nahi.

insaniyat quotes image 2022
insaniyat quotes image 2022

इंसानियत स्टेटस

चाहत वो नहीं जो जान देती है,
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है,
ऐ दोस्त चाहत तो वो है,जो पानी में
गिरा आंसू पहचान लेती हैं.

Chahat wo nahi jo jaan deti hai,
Chahat woh nahi jo Muskaan
Deti hai,Ae Dost Chahat wo hai,
Jo Paani Mein Gira Aasu Pehchaan
Leti hai.

 

 

 

insaniyat status

कुछ ग़मों का होना भी जरूरी है
ज़िंदगी में, ज़िंदा होने का अहसास
बना रहता हैं।
Kuch gamon ka hona bhi
zururi hai zindagi me zinda
hone ka ahsaas bana rehta hai.

insaniyat quotes in hindi images
insaniyat quotes in hindi images

insaniyat status in hindi

तू इश्क की दूसरी निशानी दे दे मुझको,
आँसू तो रोज गिर कर सूख जाते हैं।.
Tu Ishq Ki Doosari Nishani
De De Mujhko,Aansoo Toh
Roj Gir Ke Sookh Jate Hain.

 

 

 

insaniyat whatsapp status

अपनी औकात भूल जाऊ इतना अमीर
भी नही हू मै,और कोई मेरी औकात
बताए इतना फकीर भी नहीं हू मै।

Apni aukat bhul jaun itna amir
bhi nhi hun me aur koi meri aukat
bataye itna fakir bhi nahi hun me.

insaniyat images download
insaniyat images download

insaniyat status for whatsapp

ना जाने उनकी ऐसी क्या मज़बूरी आ गयी हैं
हमसे बात करने में उन्हें बड़ी दिक्कत आ रही हैं।
Naa jane unki esi kya majburi aa gayi
hai humse baat karne me unhe badi
dikkat aa rahi ha.

 

 

insaniyat status for fb

किस्मत के तराज़ू में तो फकिर हैं,हम
और दर्द दे दिल में हम सा कोई नहीं,
Kismat Ke Traju Me To Fhakir
Hai Ham Our Dard De Dil Me
Ham Sa Koei Nhi..

 

 

goodness shayari

दर्द में भी ये लब मुस्कुरा जाते हैं,
बीते लम्हे हमें जब भी याद आते है।
Dard Mein Bhi Ye Lab Muskura
Jaate Hain,Beete Lamhe Humein
Jab Bhi Yaad Aate Hain.

 

 

गिरावट पर शायरी

जिसके दिल पर भी क्या खूब गूजरी होगी,
जिसने इस दर्द का नाम मुहब्बत रखा होगा,
Jiske Dil Par Bhi Bhi Kya Khub
Gujri Hogi,Jinke Es Dard Ja Nam
Muhbbt Rkha Hoga,.

 

 

मनुष्य पर शायरी

किस दर्द को लिखते हो इतना डूब कर,
एक नया दर्द दे दिया है उसने ये पूछकर।
Kis Dard Ko Likhte Ho Itna Doob
Kar,Ek Naya Dard De Diya Hai
Usne Yeh Puchh Kar..

 

 

शख्सियत पर शायरी

किसी चीज के लिए अपना रुतबा ना गिराए,
क्योंकि आत्म-सम्मान ही सब कुछ होता है।
kisi cheez ke liye apna rutba na
girayen kyuki self respect hi sab
kuch hota ha..

 

 

अच्छाइयों पर शायरी

ख़ुद की इज़्ज़त ख़ुद के हाथ होती है
दूसरों के आगे हाथ फैलाने से नहीं.
khud ki izzat khud ke hath hoti ha
dusron ke aage hath fesalne se nahi.

 

 

इंसानियत पर सुविचार

कोई कितना भी पैसे वाला क्यों ना हो
वह इज़्ज़त कहीं से ख़रीद ही नहीं सकता.
Koi kitna bhi pese wala kyu na ho
wah izzat kahin se kharid nahi sakta.

 

 

insaniyat bhari shayari

आँखो में आँसू और दिल में कुछ अरमान रख लो,
लम्बा सफर हैं मोहब्बत का जरुरी सामान रख लो,
Aakho Me Aasu Our Dil Me Kuch
Arman Rakh Lo,Lamba Safhar Hai
Mohbbat Ka Jaruri Saman Rakh Lo.

 

 

best insaniyat shayari

जिस चीज़ पे तू हाथ रख दे वो चीज़ तेरी हो,
और जिस से तू प्यार करे, वो तक़दीर मेरी हो.
Jis cheez pe tu hath rakh de wo
cheez teri ho, aur jis se tu pyar kare
wo takdir meri ho.

 

 

insaniyat mar chuki hai shayari

खुश्क आँखों से भी अश्कों की महक आती है,
मैं तेरे गम को ज़माने से छुपाऊं कैसे।
Khushk Aankhon Se Bhi Ashqon
Ki Mahek Aati Hai,Main Tere Gham
Ko Zamane Se Chhupaaun Kaise..

 

 

इंसानियत शायरी रेख़्ता

तुम्हें पा लेते तो किस्सा ग़म का खत्म हो जाता,
तुम्हें खोया है तो यकीनन कहानी लम्बी चलेगी।
Tumhein Paa Lete To Kissa Gam
Ka Khatm Ho Jata,Tumhein Khoya Hai
To Yakeenan Kahani Lambi Chalegi.

 

 

इंसानियत क्या होती है?

समझ में अक्सर लोग कहते है में उस आदमी से कोई सम्बन्ध नहीं रखूँगा क्युकी वो तो मनुष्य है ही नहीं वो इंसानियत के नाम पर धब्बा है आप भी इस तरह की बातें लोगों से सुनते रहते होंगे मनुष्यता की आशा तो मनुष्य से की ही जनि चाहिए लेकिन जब कोई मनुष्य अपनी मनुष्यता त्याग कर अमानवीय हो जाये तो उसे कैसे याद दिलाये की वो मानवता के महान मूल्यों का अनादर कर रहा है हम अक्सर इस सवाल से घिरते रहते है की इंसानियत क्या होती है क्या इसका कोई एक तय नियम होता है मोठे तोर पर मनुष्यता के पांच लक्षण विद्वानों द्वारा बताये गए हैं। 

1. पहला है की हो दूसरों के दुःख से दिरवित हो। 

2. वो दूसरों को कभी कोई कष्ट ना दे। 

3. किसी के साथ बुरा या कष्ट होता देखे तो वह मनुष्य सोयम आगे आये किसी के पुकारे जाने की प्रतीक्षा ना करे। 

4. उसके मनुष्य के मान में सभी के प्रति सम्मान का भाव हो यानि ऊंच – नीच, आमिर – गरीब इस तरह के कोई भी उसके मन में भेद भाव ना आये। 

5. मनुष्य को अपनी उदारता का अभिमान ना हो।  

 

इंसानियत की एक सच्ची कहानी?

एक समय के बात है महात्मा गाँधी जी अपने निजी सचिव महादेव भाई देसाई के साथ यात्रा कर रहे थे तब उस समय में आज की सुभीधा जैसे रेलगाड़ी में पंखे या AC का प्रबंध नहीं होता था यात्रा से थके गाँधी जी आराम करने के लिए लेते थे और उनके सचिव महादेव भाई बापू की सेवा के लिए हाथ के पंखे से हवा कर रहे थे अचानक पंखा करते करते महादेव भाई कब सो गए उनको पता ही नहीं चला कुछ समय के बाद जब महादेव भाई की नींद टूटी तो बापू उनको पंखा कर रहे थे महादेव भाई को बहुत वेदना हुई गाँधी जी बोले महादेव भाई जितना आराम मुझे चाहिए उतना ही आराम आपको भी मिलना चाहिए सुख और नींद पर आपका और हमारा दोनों का अधिकार है इसमें भेद भाव कैसे चल सकता है यह है एक इंसानियत का उदहारण।  

 

 

दोस्तों हम उम्मीद करते है आपको हमारी आज की इंसानियत की शायरी पसंद आई होगी अगर आपको हमारी आज की शेयर की हुई शायरी पसंद आई हैं तो हमे निचे दिए गए comment box में आप एक कमेंट करके ज़रूर बताएं की आपको हमारी शायरी किसी लगी और ये भी बताएं की आपको हमारी सभी शायरी में से कोनसी शायरी सबसे ज्यादा पसंद आई है ताकि हम ऐसी ही शायरी आपके लिए लेके आते रहे और आपका प्यार यूँ ही हमारे वेबसाइट पर बना रहे। 

 

आप यह सभी शायरी अपने उन सभी के साथ शेयर कर सकते जिसके साथ आप यहाँ शायरी शेयर करना चाहते है और आप यहाँ शायरी बिना किसी copyright या किसी भी समस्या के बिना इन शायरी को अपने whatsapp, instagram, facebook और सभी social media पर शेयर कर सकते हैं। 

 

धन्यवाद। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.